Biography

कृष्णकुमार कुन्नाथ का जीवन परिचय। Today News 2022

कृष्णकुमार कुन्नाथ का जीवन परिचय।

 

कृष्णकुमार कुन्नाथ
कृष्णकुमार कुन्नाथ
असली नाम  कृष्णकुमार कुन्नाथ
निक नेम  के.के.
जन्मदिन  23 अगस्त 1968
जन्म स्थान  दिल्ली, भारत
उम्र (Age ) 53 साल
मृत्यु की तारीख 31 मई 2022

के के उर्फ़ कृष्णकुमार कुन्नाथ एक भारतीय सिंगर हैं, इन्होने  हिंदी, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम, मराठी, बंगाली और गुजराती फिल्मों में गण गाया है। उन्हें इनके फेन्स ‘के के’ के नाम से भी जानते है।

चार साल के अंदर के के ने 11 भारतीय भाषाओं में 3,500 से ज्यादा  जिंगल गाए हैं। के के अपना पहला ब्रेक यूटीवी से मिला और वह अपने गुरु लेस्ले लुईस की बहुत तारीफ करते हैं, जिन्होंने के के को अपना पहला जिंगल गाने का मौका दिया।

उन्होंने हिंदी में 500 से ज्यादा गाने और तेलुगु, बंगाली, तमिल, कन्नड़ और मलयालम भाषाओं में 200 से ज्यादा गाने गाए हैं।

अरिजीत सिंह ,अंकित तिवारी, प्रीतम , अरमान मलिक जैसे कई बड़े सिंगर और संगीतकार उनकी आवाज और संगीत की और उनके ज्ञान की बहुत तारीफ करते है।  कृष्णकुमार कुन्नाथ

के के का जन्म एवं जीवन परिचय 

के के का जन्म 23 अगस्त 1968 को दिल्ली, भारत हुआ था। वो एक मलयाली परिवार से बिलोंग करते है। के के के पिता का नाम सीएस नायर और माँ का नाम कुन्नाथ कनकवल्ली है।

कुछ सालो के बाद, 1994  में वो मुंबई चले गए थे। वो सही मायने में अगली पीढ़ी के किशोर कुमार मने जाते  हैं। सिंगिंग में उन्होंने कोई क्लास बगेरा नहीं ली थी।

के के की शिक्षा  

के के अपनी स्कूली की पढ़ाई माउंट सेंट मैरी स्कूल, दिल्ली से पूरी की है। उन्होंने दिल्ली के किरोड़ीमल कॉलेज से कॉमर्स में ग्रेजुएशन किया है। के के ने कभी भी सिंगिंग की ट्रैनिंग नहीं ली है।  कृष्णकुमार कुन्नाथ

कृष्णकुमार कुन्नाथ
कृष्णकुमार कुन्नाथ
पिता का नाम   सीएस नायर
माता का नाम   कुनाथ कनकवल्ली
  
पत्नी    ज्योति
बच्चे   पुत्र – नकुल कृष्ण 
पुत्री – 
तमारा

के के की शादी ,पत्नी ,बच्चे  

के के ने  1991 में अपनी बचपन की प्यार ज्योति से शादी की है।  वो अपनी पत्नी को बचपन यानि की 37 साल से जानते थे ये दोनों बचपन के अच्छे दोस्त थे।

कृष्णकुमार कुन्नाथ ने  शादी करने के लिए एक सेल्समैन की नौकरी भी कर ली। फ़िलहाल सिंगिंग के अपने जुनून को आगे बढ़ाने के लिए उन्होंने 6 महीने बाद अपनी जॉब छोड़ दी थी।

उनकी पत्नी और उनके पिता ने उनको काफी मोटिवेट किया है और उन्हें अपनी जॉब चुने के लिए खा और खा की वो अपनी सपने को पूरा करे। कृष्णकुमार कुन्नाथ का एक बेटा भी है उसका नाम नकुल कृष्ण कुनाथ है, और एक बेटी भी है उसका नाम तमारा कुनाथ है।

के के का करियर

  • कृष्णकुमार कुन्नाथ ने आठ महीने तक होटल इंडस्ट्री में मार्केटिंग एक्जीक्यूटिव केतोर में काम किया। 1994 में, वो मुंबई आ गए थे।
  •  उनका पहला गायन असाइनमेंट उन्हें UTVमें  दिया गया था; के के ने सैंटोजेन सूटिंग ब्रेक के लिए एक गीत गाया।
  • कृष्णकुमार कुन्नाथ पहला एल्बम “पल” 1999 में आया था। इस एल्बम को सर्वप्रथम एकल एल्बम के रूप में स्टार स्क्रीन अवार्ड भी मिला।
  • के के का दूसरा एलबम 9 साल बाद आया  2008 में “हमसफर”
  • उनका पहला ब्रेक बॉलीवुड में बेकग्राउंड सिंगरों के रूप में  फिल्म ‘माचिस’ (1996) का गाना ‘छोड़ आए हम वो गलियां’ में आया था।
  • इनको एक इंपोर्टेंट सिंगर के रूप में स्थापित करने वाला गीत ‘हम दिल दे चुके सनम (1999)’ का ‘तड़प तड़प के इस दिल’ था। ये के के करियर की सबसे बड़ी हिट फिल्मों में से एक माना जाता है।
  • इस गाने के बाद कृष्णकुमार कुन्नाथ बहुत सारे ऑफर्स भी मिले. अभी तक इन्होने ने 3,500 से ज्यादा जिंगल गाए हैं।इन्होने ने जस्ट मोहब्बत और हिप हिप हुर्रे जैसे कुछ टीवी सीरियल के टाइटल ट्रैक भी गाए हुए है।
  • वो साल 2005 में सोनी टीवी के रियलिटी टैलेंट शो ‘फेम गुरुकुल’ में जज के रूप में भी देखे जा चुके है।
  • 2013 में, के के ने एक अंतरराष्ट्रीय एल्बम, राइज अप – कलर्स ऑफ पीस के लिए भी गाया था , जिसमें तुर्की कवि फेतुल्लाह गुलेन ने  लिखा गीत शामिल हैं और 12 देशों के सिंगरों के एक साथ गाए गए हैं।के के ने एल्बम के लिए “रोज ऑफ माई हार्ट” नाम का एक गाना रिकॉर्ड भी किया था।
  • के के ने पाकिस्तानी टीवी शो द घोस्ट के लिए “तन्हा चला” नाम का एक गाना गाया है, जिसे 2008 में हम टीवी पर पर रिलीज भी किया गया था।  कृष्णकुमार कुन्नाथ
कृष्णकुमार कुन्नाथ
कृष्णकुमार कुन्नाथ

कैसे हुई के के की मौत 

के के की मोत एक लाइव प्रदर्शन के बाद कोलकाता में मुर्त्यु हो गयी।

अभी तक के के की मौत की असल वजह तो सामने नहीं आई है, लेकिन कुछइन्फोर्मेसन में बतायागया है कि के के की मौत कार्डियक अरेस्ट से हुई है ।

कृष्णकुमार कुन्नान जब कोलकाता में एक कॉन्सर्ट में लाइव परफॉर्म दे रहे थे तो उसी टाइम उन्हें स्ट्रोक आया। के के को जल्द ही कोलकाता मेडिकल रिसर्च इंस्टिट्यूट में ले गए।

वहां डॉक्टरों ने के के को मरा हुआ बता दिया। डॉक्टर के के की मौत पर अभी कुछ भी खुलकर नहीं बोल प् रहे थे। कृष्णकुमार कुन्नाथ की रिपोर्ट्स के बाद ही खुल कर कहा जा सकता है।

कृष्णकुमार कुन्नाथ को 31 मई की रात 10.30 बजे हॉस्पिटल में लाया गया । वो साउथ कोलकाता में एक ऑडिटोरियम में परफॉर्म कर रहे थे। तभी के के की तबीयत अचानक खराब हो गयी गई और वो अचानक ही बेहोश होकर गिर पड़े। के के दो दिन के लिए कोलकाता परफॉर्म करने गए हुए थे। सोमवार 30 मई को भी के के एक कॉन्सर्ट था।

के के के बारे में रोचक बातें

  •  के के सिंगिंग के परिवार से विलॉन्ग रखते है कृष्णकुमार कुन्नाथ के पिता संगीत के बहुत ही शौकीन थे, उनकी माँ ने संगीत का प्रदर्शन किया और उनकी नानी एक सिंगिंग टीचर थीं।
  • सिंगिंग में उनकी दिलचस्पी स्कूल के दिनों से ही थी । वो अपनी मां के मलयाली गाने भी सुना करते थे, जिसे उनके पिता एक छोटे से टेप रिकॉर्डर में रिकॉर्ड रखा करते थे।
  • कृष्णकुमार कुन्नाथ ने कभी भी सिंगिंग में कोई कोई भी ट्रेनिक नहीं ली थी।
  • के के की सिंगिंग को  देखकर उनके टीचर ने के के के पिता को उन्हें एक सिंगिंग स्कूल में भेजने के लिए कहा।कृष्णकुमार कुन्नाथ वहां जाकर ओनली दो दिनों में एक हल्का शास्त्रीय गीत सिख लिया था। लेकिन के के ने कभी भी सिँगिन सिखने में कभी भी मन लगाया।और ऐसी लिया उनके पिता ने वह वेजना बंद करवा दिया था।
  • बॉलीवुड के फेमस सिंगर किशोर कुमार ने कभी भी सिंगिंग की क्लास नहीं ली थे इसीलिए ही ये भी नहीं जाना चाहते थे ये ही एक बड़ा कारण रहा न जाने का। कृष्णकुमार कुन्नाथ
  • के के स्कूल के दिनों में अपना फेवरेट गाना सुना करते थे उनका फेवरेट गाना शोले (1975) का ‘महबूबा’ था

के के कौन थे?

कृष्णकुमार कुन्नाथ एक भारतीय सिंगर  हैं, इन्होने हिंदी, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम, मराठी, बंगाली और गुजराती फिल्मों में भी गाना गाया है। उन्हें उनके फेन्स  ‘के के’ के नाम से भी बुलाते है। कृष्णकुमार कुन्नाथ

कृष्णकुमार कुन्नाथ
कृष्णकुमार कुन्नाथ

Read  Also – के के (सिंगर ) का जीवन परिचय ,मौत । KK Biography in Hindi 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button